BuckWheat (Kuttu) in Hindi- कुट्टू के फायदे क्या क्या है ?

BuckWheat (Kuttu) in Hindi :आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए लेकर आए हैं BuckWheat (Kuttu) in Hindi के बारे में जानकारी। आपने अपने जीवन में कभी ना कभी कुट्टू से बने हुए पकवानों का आनंद जरूर लिया होगा। यहां आपको बता दें कि नवरात्र के समय में उत्तर भारत में कुट्टू का खासतौर पर इस्तेमाल किया जाता है। वैसे अगर आपने इसके बारे में पहले कभी नहीं सुना है तो आपके मन में यह सवाल जरूर आ रहा होगा कि आखिर ये होता क्या है और इसका किस प्रकार से इस्तेमाल किया जा सकता है। अपने सभी सवालों के जवाब जानने के लिए स्मार्ट जिंदगी के आज के हमारे इस आर्टिकल को सारा पढ़ें और जानें कुट्टू के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी, जिससे कि आप भी इससे मिलने वाले फायदों को जान सकें।

कुट्टू क्या होता है (what is buckwheat in hindi)

तो सबसे पहले यहां आपको हम जानकारी के लिए बता दें कि यह एक पोलीगोनेसिएइ फैमिली का प्लांट है और इस पर लगने वाला फल तिकोने आकार के जैसा होता है। बता दें कि इसी फल को पीसकर कुट्टू का आटा तैयार किया जाता है जिसको अंग्रेजी में बकव्हीट कहा जाता है। साथ ही जानकारी के लिए बता दें कि यह पौधा आकार में बिल्कुल भी बड़ा नहीं होता है। भारत की अगर बात की जाए तो हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड जम्मू कश्मीर के अलावा दक्षिण के नीलगिरी, नार्थ साउथ ईस्ट के राज्यों में इसको उगाया जाता है। हमारे देश में जब व्रत का समय आता है तो उस दौरान इस को सबसे अधिक खाया जाता है।

कुट्टू में पाए जाने वाले पोषक तत्व (buckwheat nutrients in hindi)

अब आपको यहां हम बता दें कि बकव्हीट यानी कि कुट्टू के आटे में पोषक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। यहां निम्नलिखित हम इसके अंदर पाए जाने वाले न्यूट्रिएंट्स के नाम बता रहे हैं जो कि इस तरह से हैं –

  • कैल्शियम
  • मैग्नीशियम
  • विटामिन बी
  • आयरन
  • जिंक
  • फोलेट
  • कॉपर
  • मैग्नीज
  • फास्फोरस
  • फाइटोन्यूट्रिएंट

कुट्टू के फायदे क्या क्या है (benefits of buckwheat in hindi)

यदि कुट्टू के फायदों की बात की जाए तो इसके अंदर बहुत सारे तत्व शामिल है जो किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य के लिए काफी अधिक लाभदायक होते हैं। इसका सेवन करने से आपको क्या-क्या फायदे मिल सकते हैं उनकी जानकारी निम्नलिखित हम दे रहे हैं –

बकव्हीट वजन को कम करे

इसके अंदर फाइबर काफी ज्यादा पाया जाता है जिसकी वजह से जब आप इसको खाते हैं तो उससे आपका पेट काफी देर तक भरा भरा महसूस होता है। इसीलिए आपको भूख भी बहुत कम लगती है और इसके अलावा यह आपके पूरे शरीर को ऊर्जा भी प्रदान करता है। बताते चलें कि इसका सेवन करने से आपका वजन नियंत्रण में रह सकता है इसी की वजह से अगर आप चाहते हैं कि आपका वजन कम हो तो इसे अपने आहार में जरूर शामिल करें।

ब्लड कैंसर को कम करे कुट्टू

बकव्हीट का इस्तेमाल करके आप ब्लड कैंसर के खतरे को काफी हद तक कम कर सकते हैं। यहां आपको जानकारी के लिए बता दें कि इसके अंदर फाइबर होता है जोकि कैंसर जैसी बीमारी से आपको बचा सकता है। इसके अलावा जानकारी दे दें कि इसमें एंटीट्यूमर गुण भी पाए जाते हैं जो ब्रेस्ट कैंसर को शरीर में बढ़ाने वाली कोशिकाओं को समाप्त करने में सहायक हो सकता है।

बकव्हीट के फायदे मधुमेह की रोकथाम के लिए

अगर किसी के शरीर में रक्त शर्करा का स्तर बहुत ही ज्यादा तेजी से बढ़ रहा हो तो उसे चाहिए कि वह कुट्टू का इस्तेमाल करे। क्योंकि इसके अंदर फाइबर होता है जो ब्लड शुगर के लेवल को बढ़ने से कंट्रोल करता है। साथ ही बता दें कि इसके अंदर anti-diabetic गुण भी होते हैं जो टाइप टू डायबिटीज को नियंत्रित करने में काफी मददगार साबित हो सकते हैं।

कुट्टू के फायदे पित्त की पथरी को रोकने के लिए

कई रिसर्च में यह बात सामने आई है कि कुट्टू के अंदर प्रोटीन पाया जाता है जोकि पित्त की पथरी को रोकने में काफी मददगार साबित हो सकता है। यहां जानकारी के लिए बता दें कि इसके अंदर जो पथरी बनती है उसको और कोलेस्ट्रोल के लेवल को कम करने में बकव्हीट काफी उपयोगी होता है। जब कोई पथरी का रोगी इसका सेवन करता है तो उसकी बॉडी में बाइल एसिड बनता है जिसकी वजह से आपको पित्त की पथरी से छुटकारा हासिल हो सकता है।

बकव्हीट के फायदे ब्लड प्रेशर को करे कंट्रोल

इसके अंदर मैग्नीशियम होता है जो ब्लड प्रेशर को सुधारने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। बताते चलें की कुट्टू में रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने की क्षमता होती है जिसकी वजह रक्तचाप को काफी हद तक कंट्रोल किया जा सकता है। यहां बता दें कि यह उच्च रक्तचाप के लिए काफी बेहतरीन माना गया है क्योंकि इसका इस्तेमाल करके बिना किसी हानि के आप हाई बीपी से छुटकारा हासिल कर सकते हैं।

दिल के लिए कुट्टू के फायदे

बकव्हीट के अंदर कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि विटामिन बी, फोलेट, नियासिन वगैरह। तो इसलिए यह हृदय के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। यहां बता दें कि ब्लड में जो कोलेस्ट्रॉल मौजूद होता है कुट्टू के विटामिन उसको कम करने का काम करते हैं। साथ ही साथ व्यक्ति के शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल के लेवल को बढ़ाते हैं। इस तरह से रक्त वाहिकाएं फिर बहुत अच्छे तरीके से काम करने लगती हैं और जो खराब कोलेस्ट्रॉल होता है उसको भी कम करने में यह हेल्पफुल होता है। इस तरह से इस गुणवत्ता वाले आटे को इस्तेमाल करके कमजोर दिल के साथ-साथ हृदय की अन्य समस्याओं से भी राहत पाई जा सकती है।

कुट्टू का लाभ हड्डियों के लिए

कुट्टू के अंदर पाए जाने वाले पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत करने का काम करते हैं। यहां बता दें कि इसके अंदर जो कैल्शियम, पोटेशियम, फास्फोरस और मैग्नीशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं वह आपके दांतो को मजबूत करने के साथ-साथ हड्डियों को भी मजबूत करने का काम कर सकते हैं। इसलिए अगर आप चाहते हैं कि आपके शरीर में स्वस्थ हड्डियों का विकास हो तो कुट्टू के आटे का सेवन करें।

कुट्टू के फायदे स्किन के लिए

अगर आप यह चाहते हैं कि आपकी त्वचा ग्लोइंग और स्वस्थ बने तो इसके लिए आपको बकव्हीट का इस्तेमाल करना चाहिए। यहां आपको बता दें कि कुट्टू के आटे का सेवन करने के साथ-साथ आप इस के आटे का इस्तेमाल फेस पैक के रूप में करके अपनी त्वचा को चमकदार और साफ बना सकते हैं। इसके साथ-साथ अगर किसी व्यक्ति के चेहरे पर अगर रिंकल्स पड़ गई है तो उन से भी उसको छुटकारा मिल जाएगा।

बकव्हीट का लाभ बालों के लिए

अगर आप चाहते हैं कि आपके बालों की ग्रोथ बढ़े और बालों का टूटना और झड़ना भी रुक जाए तो इसके लिए आपको कुट्टू का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके लिए आपको चाहिए कि दो चम्मच कुट्टू का आटा ले लें और आप उसमें एक कटोरी दही की मिला लें। अब इन दोनों को अच्छी तरह से मिक्स कर लें और इसे अपने बालों में लगा लें। लगभग 1 घंटे बाद सिर धो लें। इस उपाय को सप्ताह में कम से कम एक या दो बार किया जा सकता है।

कुट्टू का उपयोग कैसे करें (how to use buckwheat in hindi)

बकव्हीट एक बेहद लाभकारी आटा है जिसको आप निम्नलिखित तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं –

  • इसके कई प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजन बनाकर इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • इसका उपयोग आमतौर पर नवरात्रि के दौरान व्रत के समय किया जाता है।
  • पूड़ियां और पकोड़े बनाकर खा सकते हैं।
  • परांठे बना कर खा जा सकते हैं।
  • इसका इस्तेमाल इडली या फिर डोसा बनाने के लिए किया जा सकता है।

कुट्टू से होने वाले नुकसान (side effects of BuckWheat (Kuttu) in Hindi)

आमतौर पर इसके कोई विशेष नुकसान देखने को नहीं मिले हैं लेकिन फिर भी अगर कोई व्यक्ति इसका जरूरत से ज्यादा सेवन कर लेता है तो उसे निम्नलिखित नुकसान हो सकते हैं –

  • अगर आप इसका ज्यादा इस्तेमाल करते हैं तो इससे आपकी त्वचा के ऊपर सूजन के साथ-साथ रैशेज भी पड़ सकते हैं।
  • इस के आटे को बहुत ज्यादा दिनों तक के लिए नहीं रखा जा सकता क्योंकि यह 1 महीने से भी कम समय में खराब हो जाता है। इसलिए अगर इसका इस्तेमाल आप करेंगे तो उससे आपको फूड प्वाइजनिंग की समस्या हो सकती है।
  • इसके अंदर काफी अधिक मात्रा में फाइबर पाया जाता है इसलिए अगर इसे ज्यादा सेवन किया जाए तो उससे आपको पेट में ऐंठन और गैस के अलावा कब्ज की समस्या भी हो सकती है।
  • अगर इसका अधिक उपयोग कर लिया जाए तो फिर शरीर की मांसपेशियों में कमजोरी के साथ साथ पैरालाइसिस की समस्या भी हो सकती है।
  • यदि आप इसका प्रयोग ज्यादा करते हैं तो इससे दिल की धड़कन भी बंद होने की आशंका होती है।

ये भी पढ़े : drumstick vegetable in hindi – सहजन फली से जुड़ी हुई कुछ महत्वपूर्ण बातें

benefits of vajrasana in hindi -वज्रासन के फायदे

कंक्लुजन (BuckWheat (Kuttu) in Hindi )

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल benefits of BuckWheat (Kuttu) in Hindi और इस पोस्ट में हमने आपको (What is BuckWheat (Kuttu) in Hindi ) से जुड़ी हुई सारी महत्वपूर्ण जानकारी दे दी है जो कि आपके लिए काफी अधिक फायदेमंद रहीं होंगी। इसलिए अंत में हमारी आपसे यही रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे दूसरों के साथ भी जरूर शेयर करें और यदि आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं ।

Leave a Comment