what is blue chip stocks in Hindi -ब्लू चिप स्टॉक्स क्या है? ब्लू चिप कंपनी में निवेश कैसे करें?

what is blue chip stocks in Hindi : तकरीबन 2 सालों से नए-नए डिस्काउंट ब्रोकर आने से और कम ब्रोकरेज चार्ज लगने की वजह से शेयर मार्केट में निवेशकों की मात्रा बढ़ती ही जा रही है। इस तरह से रिस्क लेने वाले लोगों के लिए यह एक बहुत ही फेवरेट आय कमाने का जरिया बन गया है।

परंतु स्टॉक मार्केट में अलग-अलग तरह के शेयर होते हैं जिनमें इन्वेस्ट करने पर निवेशक को काफी अधिक रिस्क रहता है। जबकि कुछ शेयर्स में low volatility की वजह से कम रिस्क होता है लेकिन इनमें प्रॉफिट बहुत कम मिलता है।

तो ऐसे में रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए सबसे बेस्ट ऑप्शन होता है ब्लू चिप स्टॉक्स का। आज हम आपको बताएंगे ब्लू चिप स्टॉक्स के बारे में सारी डिटेल्स।

ब्लू चिप स्टॉक्स क्या है?                                         

जो कंपनी आकार में बड़ी होने ऐसा साथ वेल इस्टैबलिश्ड और आर्थिक रूप से काफी स्ट्रॉन्ग होती है उस कंपनी के द्वारा ही ब्लू चिप स्टॉक्स शेयर्स जारी किए जाते हैं।

बता दें कि ऐसी कंपनियों का मार्केट कैपिटलाईसेशन बहुत बड़ा होता है और आमतौर पर यह कंपनी अपने सेक्टर की मेन लीडर मानी जाती है। एग्जांपल के तौर पर -रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक, एशियन पेंट्स, टाटा स्टील इत्यादि।

बताते चलें कि ब्लू चिप कंपनियां मार्केट में बहुत ही ज्यादा पॉपुलर होती है और निवेशक इन पर काफी ज्यादा ट्रस्ट करते हैं। इसके अलावा इन कंपनियों को consistent dividend और stable return देने के लिए भी निवेशकों के बीच जाना जाता है।

क्यों कहते हैं इन स्टॉक्स को ब्लू चिप स्टॉक्स

इन स्टॉक्स को ब्लू चिप स्टॉक्स कहने के पीछे भी एक काफी इंटरेस्टिंग स्टोरी है। आइए आपको हम वह कहानी बताते हैं – जब प्रथम विश्व युद्ध खत्म हुआ था तो उसके बाद लोगों की सोच में बहुत ही ज्यादा चेंज आया था और इस वजह से पोकर जैसे खेल लोगों के बीच काफी ज्यादा लोकप्रिय हो गए थे।

आपको बता दें कि जो पोकर का खेल होता था उसमें जो सबसे ज्यादा काम में आने वाली नीले रंग की चिप्स थी वो उन सब में सबसे अधिक महंगी हुआ करती थी। तो इस प्रकार से इन्हीं चिप्स को अपने ध्यान में रखते हुए अमेरिका के एक पत्रकार ने न्यूज़पेपर में सबसे पहले अमेरिका की कुछ बड़ी कंपनियों के शेयर्स के लिए ब्लू चिप शब्द का प्रयोग किया था। बस तब से ही लेकर आज तक यह लोगों के बीच काफी ज्यादा लोकप्रिय है।

ब्लू चिप स्टॉक्स महत्वपूर्ण क्यों होते हैं?

हमने अभी आपको बताया कि ब्लू चिप स्टॉक्स प्रतिष्ठित और अपने क्षेत्र में जो कंपनियां सर्वश्रेष्ठ होती हैं उनके स्टॉक  होते हैं। इन्हें कई बातें महत्वपूर्ण बनाती हैं जैसे कि –

  • ब्लू चिप स्टॉक्स में निवेशकों को एक स्टेबल रिटर्न मिलता है। इसकी वजह यह है कि कंपनी की मार्केट कैप काफी हाई होती है जिसकी वजह से शेयर की वोलैटिलिटी कम होती है जो कि स्टेबल रिटर्न देने में सक्षम है।
  • ब्लू चिप स्टॉक्स के मार्केट में बहुत सारे शेयर होल्डर होते हैं जिसकी वजह से इन के शेयरों में ज्यादा लिक्विडिटी होती है और इस वजह से आसानी से buyer और Seller भी मिल जाते हैं।
  • इन स्टॉक्स में स्टेबल रिटर्न ऑन इक्विटी (ROE) , हाई प्राइस टू अर्निंग (PE) इत्यादि भी साधारण कंपनियों के कंपैरिजन में बहुत अच्छा होता है।
  • इस तरह से जब सेक्टर में ग्रोथ होती है तो तब इन कंपनियों में ग्रोथ भी काफी ज्यादा होती है क्योंकि यह सेक्टर की लीडर भी होती हैं।

ब्लू चिप स्टॉक्स में निवेश करने के कुछ नुकसान

ब्लू चिप स्टॉक्स में इन्वेस्ट करने से कुछ नुकसान भी हो सकते हैं क्योंकि इनमें कोई भी स्टॉक लगातार ब्लू चिप नहीं होता है जैसे कि जिओ के आने के बाद जो एयरटेल कंपनी का स्टॉक था उसे ब्लू चिप से हटा दिया गया था। ऐसा इसलिए था क्योंकि यूजर्स की संख्या कम होने की वजह से इसके इन्वेस्टर्स को नुकसान उठाना पड़ रहा था। हालांकि मौजूदा समय में एयरटेल स्टॉक को फिर से ब्लू चिप में डाल दिया गया है।

ये भी पढ़े :  What is Market Cap in Hindi – मार्केट कैप क्या है?(Market Cap kya hai )

नोट : यदि शेयर मार्किट में आप ट्रेडिंग करते है तो नीचे दिए गए यूट्यूब (YouTube Channel) को सब्सक्राइब (Subscribe) करना न भूले , बहुत ही बेहतरीन स्टॉक के बारे में बताते है ।

https://youtube.com/c/StockTalksAnalysisinhindi

बेहतरीन Analysis जानने के लिए इस लिंक को क्लिक करे 

ब्लू चिप स्टॉक्स को कैसे कैलकुलेट करें

बहुत से इन्वेस्टर ब्लू चिप स्टॉक्स में इन्वेस्टमेंट करना चाहते हैं लेकिन उन्हें यह मालूम नहीं होता कि इस तरह के स्टॉक्स को वे आसानी से किस तरह से ढूंढे। आइए ब्लू चिप स्टॉक्स को कैलकुलेट करने के लिए बताते हैं कुछ जरूरी बातों के बारे में –

  • कंपनी का जो मार्केट कैप होता है वह तकरीबन एक लाख करोड़ से भी अधिक होना चाहिए। ऐसा इसलिए है क्योंकि बड़ा मार्केट कैप बिजनेस में आई हुई मंदी से लड़ सकता है जिसकी वजह से निवेशक को मिलने वाले डिविडेंट पर ज्यादा प्रभाव नहीं पड़ता।
  • आप जो भी ब्लूचिप स्टॉप खरीदें उसका price to earnings ratio (pe) 15 से ज्यादा होना बेहतर रहता है।
  • कंपनी या तो अपने सेक्टर की लीडर कंपनी हो या फिर टॉप तीन कंपनियों में से एक हो।‌
  • कंपनी के रेवेन्यू, और नेट प्रॉफिट भी लगातार बढ़ते रहना चाहिए।

इस तरह से आप ब्लू चिप स्टॉक्स वाली कंपनियों को कंपेयर करके उन्हें ढूंढ सकते हैं। और फिर अपने बजट और निवेश के आधार पर आप एक या फिर दो कंपनियों को सिलेक्ट कर सकते हैं।

भारत के टॉप 10 ब्लू चिप स्टॉक्स (blue chip stocks in Hindi)

Stocks Name Market Cap (INR)
RIL 1433447
TCS 1129323
INFOSYS 569974
HDFC 451894
BHARTI AIRTEL 288796
ITC 255946
ASIAN PAINTS 228371
MARUTI SUZUKI 219418
WIPRO 217414
ADANI GREEN 187277

ब्लू चिप स्टॉक्स में निवेश कैसे करें

ब्लू चिप स्टॉक्स में निवेश करने के लिए आपको बहुत ही सिंपल से प्रोसेस को फॉलो करना होता है –

  • इसके लिए सबसे पहले आपको अपना एक डीमैट अकाउंट ओपन करना होगा। अगर आप हमारी सलाह मानें तो Zerodha पर अपना ट्रेडिंग अकाउंट खुलवा लें। इसमें आपको ब्रोकरेज चार्ज बहुत कम लगता है।
  • अब आप अपनी रिसर्च के बेस पर अपने चुने हुए ब्लू चिप कंपनियों के किसी भी स्टॉक को चुन लें।
  • इस तरह से आप Zerodha के Kite App में SIP के द्वारा हर महीने एक निश्चित अमाउंट को इन्वेस्ट कर सकते हैं।
  • इस प्रोसेस के लिए आपको orders में जाकर SIP के ऊपर क्लिक करना है और फिर उसके बाद New SIP Create करें।
  • बता दें कि आप मैक्सिमम 20 SIP क्रिएट कर सकते हैं, अपने इन्वेस्टमेंट को शेड्यूल कर सकते हैं और इसके साथ ही साथ एक सिस्टमैटिक तरीके से इन्वेस्ट, withdraw और ट्रांसफर भी कर सकते हैं।
  • अब आप अपने खरीदे गए स्टॉप पर लगातार नजर बनाए रखकर निर्धारित प्रॉफिट मिलने पर उसे सेल कर सकते हैं।

Blue Chip Stocks VS Penny Stocks

अब यहां आपको हम बताते हैं कि ब्लू चिप स्टॉक्स और पेनी स्टॉक्स में क्या फर्क है –

ब्लू चिप स्टॉक्स (Blue Chip Stocks in hindi) – यह कंपनियां बहुत ही ज्यादा पॉपुलर होने के साथ-साथ भरोसेमंद भी होती हैं और इनका मार्केट कैप भी बहुत ही अधिक व्यापक होता है। इसके साथ ही साथ इनका जो फाइनेंशियल डेटा होता है वह भी काफी अच्छा होता है। इनको मार्केट में हाई रेटेड ब्रांड्स के तौर पर आप देख सकते हैं जो एक स्टेबल रिटर्न आपको प्रदान करते हैं। जितने भी बड़े निवेशक हैं वो सब intraday trading और long term investment  के लिए ब्लू चिप स्टॉक को ही प्रेफरेंस देते हैं।

पैनी स्टॉक्स(Penny stocks in Hindi) – तो मार्केट प्राइस के आधार पर यह बहुत ही छोटी छोटी कंपनियां होती हैं जिनमें काफी बड़ी ग्रोथ की पॉसिबिलिटी हो सकती है। लेकिन समस्या यह है कि इनमें बहुत ही ज्यादा volatility होती है जिसके कारण यह हाई रिस्की होते हैं। इसलिए इनमें इन्वेस्ट किया गया आपका सारा पैसा डूब भी सकता है। आमतौर पर जो रिटेल इन्वेस्टर होते हैं वह इनमें अपनी इंटरेस्ट रखते हैं।

ये भी पढ़े :  What is Market Cap in Hindi – मार्केट कैप क्या है?(Market Cap kya hai )

नोट : यदि शेयर मार्किट में आप ट्रेडिंग करते है तो नीचे दिए गए यूट्यूब (YouTube Channel) को सब्सक्राइब (Subscribe) करना न भूले , बहुत ही बेहतरीन स्टॉक के बारे में बताते है ।

https://youtube.com/c/StockTalksAnalysisinhindi

बेहतरीन Analysis जानने के लिए इस लिंक को क्लिक करे 

Leave a Comment