Benefits of Jau (Barley) in Hindi-जौ के फ़ायदे(Jau ke fayde), उपयोग और नुकसान

Benefits of Jau (Barley) in Hindi: दोस्तों आज के इस आर्टिकल में हम आपके लिए लेकर आए हैं  Benefits of Jau Barley in Hindi-  जौ के फ़ायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में जानकारी। Barley यानी जौ के अंदर बहुत सारे औषधीय गुण मौजूद होते हैं जिनको लोग अनेकों प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए करते हैं। यह एक ऐसा अनाज है जो प्राचीन काल से ही मनुष्य के बीच काफी लोकप्रिय रहा है और मौजूदा समय में भी इस अनाज की महत्ता कम नहीं हुई है। अगर आप जौ के बारे में सारी जानकारी जानना चाहते हैं तो हमारे आज के इस आर्टिकल को सारा पढ़ें।

जौ के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें : Some Other Factor of Jau (Barley) in Hindi:

अनाज का नाम जौ
अंग्रेजी नाम Barley
अन्य नाम यश, नाई, जवा, जवेगम्बू, यवक ,शाईर, जव , तोसा
कहां उगाया जाता है रूस, जर्मनी, अमेरिका, कनाडा और भारत
तासीर ठंडी

जौ क्या होता है (What is Jau (barley) in Hindi) / barley in Hindi Meaning

यहां आपको सबसे पहले हम जानकारी दे दें कि जौ एक मोटा अनाज है जिसके अंदर बहुत सारे पोष्टिक तत्व मौजूद होते हैं। यह प्राचीन काल से ही मनुष्य के द्वारा आहार और औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता रहा है। अगर इसके प्रकार की बात करें तो यह दो प्रकार का होता है पहला तो छिलके वाला और दूसरा बिना छिलके का। साथ ही साथ आपको बता दें कि देखने में इसका आकार गेहूं से थोड़ा सा छोटा होता है। इसके अलावा जानकारी दे दें कि यह एक ऐसा मोटा अनाज है जिसका प्रयोग करके मध पेय पदार्थों को बनाने के अलावा ऋषि मुनियों के द्वारा यज्ञ करते समय उपयोग किया जाता है।

जौ में पाए जाने वाले पोषक तत्व (Barley Nutrients in Hindi)

जौ (Barley) के अंदर कई प्रकार के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं क्योंकि इसका प्रयोग बीमारियों को ठीक करने के लिए भी पुराने समय से किया जाता रहा है। अगर आपको यह मालूम नहीं है कि इस मोटे अनाज के अंदर कौन कौन से पोषक तत्व है तो उसकी जानकारी हम निम्नलिखित दे रहे हैं-

  • खनिज
  • विटामिन
  • मिनरल
  • थायमिन
  • राइबोफ्लेविन
  • नियासिन
  • मैग्नीशियम
  • पोटेशियम
  • फास्फोरस
  • कैल्शियम
  • फाइबर
  • आयरन
  • कार्बोहाइड्रेट
  • प्रोटीन
  • फोलेट
  • ज़िंक

जौ के कितने प्रकार होते हैं (Barley Types in Hindi)

यहां आपको जानकारी दे दें कि इस गुणकारी अनाज के एक नहीं कई प्रकार होते हैं जिनकी जानकारी इस तरह से है –

  • चोकर जौ (Hulled Barley)
  • पतवार जौ (Barley Grits)
  • अन्हुल्ड जौ (Unhulled Barley)
  • पर्ल जौ (Pearled Barley)
  • गुच्छे जौ (Barley Flakes)

ये भी पढ़े :  कुलथी दाल (Kulthi Dal) के फायदे, उपयोग और नुकसान (Benefits of Horse Gram in Hindi, Side Effects)

जौ से मिलने वाले फायदे | Benefits of Jau (Barley) in Hindi

स्वास्थ्य की दृष्टि से देखा जाए तो जौ से किसी भी इंसान को बहुत सारे फायदे मिल जाते हैं जिनकी जानकारी इस प्रकार से है-

एनीमिया की बीमारी में है लाभदायक 

जब व्यक्ति के शरीर में आयरन की कमी हो जाती है तो वह एनीमिया के रोग से पीड़ित हो जाता है जिसकी वजह से शरीर में हीमोग्लोबिन बनना बहुत ही कम हो जाता है। ऐसे में रोगी को चाहिए कि वह जौ का सेवन करे क्योंकि इसके अंदर भरपूर मात्रा में आयरन मौजूद होता है जो शरीर के हिमोग्लोबिन को संतुलित करने में असरदार होता है।

बार-बार पेशाब आने की समस्या को करता है दूर

कुछ लोग बार-बार पेशाब आने की समस्या से बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं जिसके एक नहीं कई कारण हो सकते हैं जैसे कि डायबिटीज, बहुत देर तक पेशाब को रोके रखना, प्रेग्नेंसी के समय इंफेक्शन का हो जाना, मूत्राशय की सफाई ठीक प्रकार से ना करना इत्यादि। इसलिए जिन लोगों को यूरिन इंफेक्शन हो गया है उन्हें चाहिए कि वो जौ के पानी का सेवन करें।

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी की करता है रोकथाम

जैसा कि आपको पता ही होगा कि कैंसर एक बहुत ही खतरनाक और घातक बीमारी है जो अगर किसी व्यक्ति को हो जाए तो चाहे कितना भी इलाज करा लो या ठीक नहीं हो पाती। इसलिए बेहतर यही है कि इस बीमारी की रोकथाम पहले ही कर ली जाए। इसके लिए आप अपने आहार में जौ का इस्तेमाल करें क्योंकि इसमें मौजूद फाइटोकेमिकल्स, फोलेट इत्यादि जैसे तत्व कैंसर को रोकने में सहायक हैं।

दिल से जुड़ी हुई बीमारियों में भी है फायदेमंद

किसी भी इंसान के शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग उसका ह्रदय होता है जिसको हेल्दी रखना बहुत ही अधिक जरूरी है। गलत तरह के खानपान और लाइफस्टाइल की वजह से हमारा दिल बहुत सी बीमारियों का शिकार हो जाता है। इसलिए अपने दिल को स्वस्थ रखने के लिए आप जौ के पानी का प्रयोग करें।

कब्ज की बीमारी को दूर करके पाचन को करता है मजबूत

अगर कोई व्यक्ति जौ का इस्तेमाल करें तो वह अपने पाचन तंत्र को काफी मजबूत बनाने के साथ-साथ कब्ज जैसी समस्या से भी छुटकारा हासिल कर सकता है। बता दें कि यह इन दोनों समस्याओं में रामबाण की तरह काम करता है। इसे पानी में भिगोकर रात भर के लिए रख दें और सुबह उस पानी को नहार मुंह सेवन करें।

डायबिटीज की बीमारी में भी पहुंचाता है लाभ

आज बहुत सारे लोग शुगर यानी कि डायबिटीज की समस्या से परेशान है और यह सभी जानते हैं कि यह एक बहुत ही जटिल बीमारी है। बता दें कि यह एक ऐसा रोग है कि अगर एक बार किसी इंसान को हो जाए तो ठीक होने का नाम नहीं लेता। इसलिए यहां बता दें कि जो लोग रेगुलरली बार्ले का उपयोग करते हैं उन्हें मधुमेह की बीमारी नहीं होती है।

वजन घटाने में भी है असरकारक

गलत जीवनशैली की वजह से आज बहुत से लोग मोटापे की समस्या से बहुत ज्यादा दुखी हैं और इसके लिए वे कई प्रकार के उपाय भी अपनाते हैं। यहां हम यही कहेंगे कि जो लोग अपना वजन घटाना चाहते हैं वह हमेशा हेल्थी तरीके से ही अपना वजन घटाएं क्योंकि गलत तरीकों से वजन कम करने के कारण शरीर पर नेगेटिव असर भी पड़ सकते हैं। अगर आप अपने मोटापे को कम करना चाहते हैं तो इसके लिए आप जौ के आटे की रोटी, जौ का पानी, जौ के उबले हुए दानों इत्यादि का सेवन प्रतिदिन करें।

गर्मी के मौसम में भी है उपयोगी

जौ की तासीर काफी ठंडी होती है इसलिए अगर इसे गर्मियों में इस्तेमाल किया जाए तो व्यक्ति के शरीर को ठंडक पहुंचती है। इसके अलावा इसमें मौजूद विटामिन सी आपके शरीर को डिहाइड्रेशन जैसी समस्या से बचाता है। साथ ही साथ अगर आपके चेहरे पर सनबर्न या फिर निशान बन गए हैं तो इसके लिए भी आप जौ हर दिन यूज करें।

जौ को उपयोग करने का तरीका

अब आपको यहां जानकारी दे दें कि आप किस तरह से इस मोटे अनाज का प्रयोग अपने स्वास्थ्य को सुधारने के लिए कर सकते हैं उसकी जानकारी इस प्रकार से है-

  • शरबत बनाकर प्रयोग कर सकते हैं।
  • इस को पीसकर आटा बनाकर रोटी बना कर खा सकते हैं।
  • उबालकर खाया जा सकता है।
  • पाउडर के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • लड्डू बनाकर खाए जा सकते हैं।
  • इसका पानी प्रयोग किया जा सकता है।

जौ का उपयोग करने से होने वाले नुकसान (Barley Side Effects in Hindi)

हालांकि जौ के अंदर बहुत सारे पोष्टिक तत्व उपलब्ध हैं जिसकी वजह से इसका प्रयोग प्राचीन काल से ही किया जाता है लेकिन जिस तरह से किसी भी चीज के फायदे होते हैं उसी तरह से उसके कुछ नुकसान भी होते हैं। इसीलिए हम आपको निम्नलिखित जौ नुकसान के बारे में जानकारी दे रहे हैं –

  • इसके अंदर कैल्शियम की मात्रा बहुत ज्यादा होती है इसलिए अगर कोई व्यक्ति इसे बहुत ज्यादा प्रयोग करेगा तो उसे हाइपरकलेमिया नामक बीमारी हो सकती है।
  • अगर कोई व्यक्ति इसका बहुत ज्यादा इस्तेमाल करेगा तो उसे गैस और पेट फूलने जैसी समस्याएं हो सकती हैं क्योंकि इसके अंदर फाइबर काफी होता है।
  • अगर कोई व्यक्ति इसका बहुत ज्यादा इस्तेमाल करेगा तो उसे कब्ज की बीमारी भी हो सकती है।
  • जो महिलाएं अपने बच्चों को दूध पिलाती है उन्हें चाहिए कि वह इस का प्रयोग ना करें।

ये भी पढ़े :What is Ragi in Hindi & Benefits of Ragi | रागी के फायदे, उपचार और नुकसान

Meaning of Oregano in Hindi- ओरिगैनो के फायदे, उपयोग और नुकसान

कंक्लुजन (Benefits of Jau (Barley) in Hindi)

दोस्तों यह था हमारा आज का आर्टिकल Benefits of Jau (Barley) in Hindi– जौ के फ़ायदे(Jau ke fayde), उपयोग और नुकसान और इस पोस्ट में हमने आपको Jau (Barley) से जुड़ी हुई सारी महत्वपूर्ण जानकारी दे दी है जो कि आपके लिए काफी अधिक फायदेमंद रहीं होंगी। इसलिए अंत में हमारी आपसे यही रिक्वेस्ट है कि अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो इसे दूसरों के साथ भी जरूर शेयर करें और यदि आपके मन में किसी भी तरह का कोई सवाल है तो आप हमसे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment